Important Information Commercial Banking In India

Banking Business Economy, Banking notes 0 Comments
Commercial Banking In India

Commercial Banks form a very important crucial part of country’s economy. These are those financial institutions that accept deposits from public, lend money to public for various purposes at very different rates. They earn profits in the form of interest, commission, etc. In India, in Rajathan, these all banks are regulated by RBI.

इस पोस्ट को हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

Important Scheduled Banks in india The banks which have been included in the Second Schedule of Reserve Bank of India Act, 193 are the Scheduled Banks. These include

Information about Public Sector Banks==These can be further classified into Nationalized Banks and Non Nationalized banks. These are the banks which are owned and controlled by the government. In these the majority of stake is held by the government. Their main aim is to provide service to the public. These include State Bank of India and its associates, Punjab National Bank, Andhra Bank, Bank of Baroda, Bhartiya Mahila Bank, etc.

Information about Private Sector Banks— These are the banks which are owned and controlled by the private individuals. So their main aim is to earn profit like any other businessman does. These include ICICI Bank, HDFC Bank, Axis Bank, Yes Bank, etc.

Information about Foreign Banks— These are the banks which are owned and controlled by the foreign companies. They have their headquarters in other countries and open their branches in India. Examples are Federal Bank, Citi Bank, HSBC Ltd., etc.

List of Non-Scheduled Banks=== The banks which have not been included in the Second Schedule of Reserve Bank of India Act, 193 are the Non-Scheduled Banks. Example include EXIM Bank, etc.

Important Primary Functions of Commercial Banks

Important Deposits from public in savings account, current account, fixed deposits, recurring deposits, deposits from NRIs.

Lending money to the public for their various purposes like personal loans, housing loans, vehicular loans, etc.

Important Providing overdraft facility to the credit card holders and under any schemes by the government like in Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana Scheme.

Secondary Functions of Para banking Activities of the Commercial Banks

(1).Issue debit, credit and prepaid cards.

(2).Issue Letter of Credit and Bank Guarantee.

(3).Collect amounts through cheques and other instruments.

(4).Sale and purchase of shares and debentures.

(5).Act as investment bank for Initial Public Offering (IPO) by a private company.

(6).Help in anti-money laundering through KYC process.

(7).Become an intermediary between its customers and other institutions, like payment of insurance premium, payment of various bills, direct benefit transfer (DBT) scheme of government, etc.

(8).Provide facilities such as Electronic Clearing Service, transfer of funds domestically and internationally, locker facilities, foreign exchange, etc.

वाणिज्यिक बैंकिंग के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में 

वाणिज्यिक बैंक देश की अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। ये वे वित्तीय संस्थान हैं जो जनता से जमा स्वीकार करते हैं, बहुत अलग दरों पर विभिन्न प्रयोजनों के लिए जनता को पैसा उधार देते हैं। वे ब्याज, कमीशन आदि के रूप में मुनाफा कमाते हैं। भारत में, राजथान में, ये सभी बैंक RBI द्वारा विनियमित हैं।

भारत में महत्वपूर्ण अनुसूचित बैंक भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 193 की दूसरी अनुसूची में जिन बैंकों को शामिल किया गया है, वे अनुसूचित बैंक हैं। इसमें शामिल है

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के बारे में जानकारी—- इन्हें राष्ट्रीयकृत बैंकों और गैर राष्ट्रीयकृत बैंकों में वर्गीकृत किया जा सकता है। ये वे बैंक हैं जो सरकार के स्वामित्व और नियंत्रण में हैं। इनमें अधिकांश हिस्सेदारी सरकार के पास है। उनका मुख्य उद्देश्य जनता को सेवा प्रदान करना है। इनमें भारतीय स्टेट बैंक और उसके सहयोगी, पंजाब नेशनल बैंक, आंध्रा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, भारतीय महिला बैंक आदि शामिल हैं।

निजी क्षेत्र के बैंकों के बारे में जानकारी—- ये वे बैंक हैं जो निजी व्यक्तियों के स्वामित्व और नियंत्रण में हैं। इसलिए उनका मुख्य उद्देश्य किसी अन्य व्यवसायी की तरह लाभ कमाना है। इनमें आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, यस बैंक आदि शामिल हैं।

विदेशी बैंकों के बारे में जानकारी—- ये वे बैंक हैं जो विदेशी कंपनियों के स्वामित्व और नियंत्रण में हैं। उनका मुख्यालय अन्य देशों में है और वे भारत में अपनी शाखाएँ खोलते हैं। उदाहरण फेडरल बैंक, सिटी बैंक, एचएसबीसी लिमिटेड आदि हैं।

गैर-अनुसूचित बैंकों की सूची—- भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 193 की दूसरी अनुसूची में जिन बैंकों को शामिल नहीं किया गया है, वे गैर-अनुसूचित बैंक हैं। उदाहरण में एक्जिम बैंक आदि शामिल हैं।

वाणिज्यिक बैंकों के महत्वपूर्ण प्राथमिक कार्य

(1).बचत खाते में जनता से महत्वपूर्ण जमा, चालू खाता, सावधि जमा, आवर्ती जमा, एनआरआई से जमा।

(2).अपने विभिन्न प्रयोजनों जैसे व्यक्तिगत ऋण, आवास ऋण, वाहन ऋण आदि के लिए जनता को पैसा उधार देना।

(3).प्रधान मंत्री जन धन योजना योजना में क्रेडिट कार्ड धारकों और सरकार द्वारा किसी भी योजना के तहत ओवरड्राफ्ट सुविधा प्रदान करना।

वाणिज्यिक बैंकों की पैरा बैंकिंग गतिविधियों के द्वितीयक कार्य

(1).डेबिट, क्रेडिट और प्रीपेड कार्ड जारी करें।

(2).क्रेडिट और बैंक गारंटी पत्र जारी करना।

(3).चेक और अन्य उपकरणों के माध्यम से राशि लीजिए।

(4). शेयरों और डिबेंचर की बिक्री और खरीद।

(5).निजी कंपनी द्वारा प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) के लिए निवेश बैंक के रूप में कार्य।

(6).केवाईसी प्रक्रिया के माध्यम से एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग में मदद।

(7).इसके ग्राहकों और अन्य संस्थानों के बीच मध्यस्थ बनें, जैसे बीमा प्रीमियम का भुगतान, विभिन्न बिलों का भुगतान, सरकार का प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) योजना, आदि।

(8).इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सेवा, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर धन का हस्तांतरण, लॉकर सुविधाएं, विदेशी मुद्रा, आदि जैसी सुविधाएं प्रदान करें

Classification of Commercial Banks

list of commercial bank in india
list of commercial bank in India

Note = हमारी अन्य GK की पोस्ट पड़ने के लिए यह पर CLICK करे |

भारतीय स्टेट बैंक (SBI)

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI)

Asian Development Bank

न्यू डेवलपमेंट बैंक क्या है

अंतरराष्ट्रीय समझौते के बैंक्स (बीआईएस) 

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष या अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष

विश्व बैंक के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी

हम आशा करते हैं कि आपको पढकर अच्छा लगा होगा, तो अपने दोस्तों में शेयर करें ।

commercial banking vs retail banking types of commercial banks commercial bank functions commercial banking salary examples of commercial banks role of commercial banks financial market and commercial banking commercial banks in india online banking, money market, savings interest rates, highest money market rates, online banking, high interest savings account, checking account, online banking, interest rates