List of important Ten Gurus of Sikhism

Indian History, Indian Static GK 0 Comments
List of important Ten Gurus of Sikhism

List of important Ten Gurus of SikhismAnd Sikhism was established by ten Gurus, divine spiritual messengers or … These teachers were enlightened souls whose main purpose and Guru Nanak (1469-1539) Guru Nanak, the founder of Sikhism, came from a Hindu family in a village populated by both Hindus and Muslims.Guru Angad (1539-1552)Guru Amar Das (1552-1574)Guru Ram Das (1574-1581) .Guru Arjan (1581-1606) Guru Hargobind (1606-1644),Guru Har Rai (1644-1661).

इस पोस्ट को हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

(1). Following are the 10 Gurus of Sikhism-

S.No Name of Sikh Guru Date of Birth Born Nirvana

(1). Guru Nanak Dev —— 15 April 1469 —— 20 August 1507 —— 22 September 1539

(2). Guru Andag —— 31 March 1504 —— 7 September 1539 —— 28 March 1552

(3). Guru Amardas —— 5 April 1479 —— 26 March 1552 —— 1 September 1574

(4). Guru Ramdas —— 24 September 1534 —— 1 September 1574 —— 1 September 1581

(5). Guru Arjun Dev —— 15 April 1563 —— 1 September 1581 —— 30 May 1606

(6). Guru Hargobind Singh —— 14 June 1595 —— 25 May 1606 —— 3 March 1644

(7). Guru Harai —— 16 January 1630 —— 3 March 1644 —— 6 October 1661

(8). Guru Har Kishan Singh —— 7 July 1656 —— 6 October 1661 —— 30 March 1664

(9). Guru Tegh Bahadur Singh —— 18 April 1621 —— 20 March 1664 —— 24 November 1675

(10) .Guru Govind Singh —— 22 December 1666 —— 11 November 1675 —— 7 October 1708

(A). Five kakara means those five things beginning with the word ‘A’ which were kept by Guru Govind Singh.

(B). According to the principles of Sikhism, all the Khalsa Sikhs wear five things like hair, bracelet, saber, comb and briefs.

(C). Without these five things, Khalsa is not considered complete.

(1). सिख धर्म के 10 गुरु निम्नलिखित है-

क्र.सं       सिख गुरु का नाम               जन्म      गुरु बनने की तिथि             निर्वाण

(1).गुरु नानक देव——15 अप्रैल 1469——20 अगस्त 1507——22 सितम्बर 1539

(2).गुरु अंदग——31 मार्च 1504——7 सितम्बर 1539——28 मार्च 1552

(3).गुरु अमरदास                ——5 अप्रैल 1479——26 मार्च 1552——1 सितम्बर 1574

(4).गुरु रामदास——24 सितम्बर 1534——1 सितम्बर 1574——     1 सितम्बर 1581

(5).गुरु अर्जुन देव               ——15 अप्रैल 1563——1 सितम्बर 1581——30 मई 1606

(6).गुरु हरगोविंद सिंह——14 जून 1595——25 मई 1606——3 मार्च 1644

(7).गुरु हरराय——16 जनवरी 1630——3 मार्च 1644——6 अक्टूबर 1661

(8).गुरु हर किशन सिंह——7 जुलाई 1656——6 अक्टूबर 1661——30 मार्च 1664

(9).गुरु तेगबहादुर सिंह——18 अप्रैल 1621——20 मार्च 1664——24 नवम्बर 1675

(10).गुरु गोविंद सिंह——22 दिसम्बर 1666               ——11 नवम्बर 1675——7 अक्टूबर 1708

(2).पांच ककार-

(A).पांच ककार का अर्थ ‘क’ शब्द से प्रारम्भ होने वाली उन पांच चीजों से है जिन्हें गुरु गोविंद सिंह के द्वारा रखे गये थे।

(B).सिख धर्म के सिद्धांतों के अनुसार सभी खालसा सिखों द्वारा पांच चीजे धारण किये जाते है जैसे- केश, कड़ा, कृपाण, कंघा और कच्छा आदि।

(C).इन पांच चीजों के बिना खालसा वेश पूर्ण नहीं माना जाता है।