Lok Sabha Governmental body of India

Indian Political Economics, Rajasthan Political Economics 0 Comments
This is the list of rajya sabha till date of India.

लोकसभा वयस्क मताधिकार के तहत लोगों द्वारा प्रत्यक्ष चुनाव के माध्यम से चुने गए प्रतिनिधियों से बनती है। संविधान के अनुसार लोकसभा की अधिकतम सदस्य संख्या 552 हो सकती है, जिनमें से 530 सदस्य राज्यों से चुने जा सकते हैं, जबकि 20 सदस्य केन्द्रशासित प्रदेशों से चुने जा सकते हैंl इसके अलावा यदि राष्ट्रपति को लगता है कि सदन में आंग्ल-भारतीय (Anglo-Indian) समुदाय के लोगों का पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं है तो वे इस समुदाय के अधिकतम दो लोगों को सदस्य के रूप में मनोनीत कर सकते हैंl लोकसभा के कुल वैकल्पिक सदस्यों की संख्या को राज्यों में इस तरीके से वितरित किया जाता है कि प्रत्येक राज्य को आवंटित सीटों की संख्या और राज्य की आबादी के बीच का अनुपात व्यावहारिक रूप में समान होता है।

इस पोस्ट को हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

The Lok Sabha is formed by the people elected under the direct election through adult franchise. According to the Constitution, the maximum number of members of the Lok Sabha can be 552, out of which 530 members can be elected from the states, while 20 members can be elected from the Union Territories. Besides, if the President thinks that the Anglo- Indian (Anglo- Indian) There is not enough representation of the people of the community, so they can nominate up to two people of this community as a member.and The number of total optional members of the Lok Sabha is distributed in the states in such a manner that the ratio between the number of seats allotted to each state and the state’s population is practically the same.

लोकसभा के बारे में विस्तार से जानकारिया

(1).Article 81

इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा का गठन किया गया है।

लोकसभा के प्रमुख उपनाम (Chief surname of Lok Sabha)

(1) निम्न सदन

(2) प्रथम सदन

(3) अस्थाई सदन

(4) जनता का सदन

(5) लोकप्रिय सदन

(6) मूर्खो का सभागार

(1) Lower House

(2) First House

(3) Temporary House

(4) House of the People

(5) Popular House

(6) Auditorium of fools

(A).भारत में प्रथम आम चुनाव सन् 1952 में हुये थे।

(B).भारत में प्रथम लोकसभा का गठन 6 मई, 1952 को किया गया था।

(C).प्रथम लोकसभा की बैठक 13 मई, 1952 को आयोजित की गई थी।

(D).वर्तमान में 16 वीं लोकसभा चल रही है जिसका कार्यकाल 2014 से 2019 तक है।

(E).राष्ट्रपति लोकसभा को भंग/विघटित कर सकता है।

(F).सबसे बड़ी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 5 वीं (1971-1977)

(G).सबसे छोटी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 8 वीं (3 वर्ष)

(A) The first general elections in India were held in 1952.

(B) The first Lok Sabha in India was constituted on May 6, 1952.

(C). The first Lok Sabha meeting was held on May 13, 1952.

(D). Currently, the 16th Lok Sabha is in progress, whose term is from 2014 to 2019.

(E). The President can dissolve / dissolve the Lok Sabha.

(F). The largest Lok Sabha (in terms of term) – 5th (1971-1977)

(G). The smallest Lok Sabha (in terms of term) – 8th (3 years)

(2). Speaker of the Lok Sabha

(A).लोक सभा अध्यक्ष को स्पिकर, चैयर पर्सन तथा सभापति भी कहते है।

(B).लोकसभा अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष को कोई भी शपथ नहीं दिलाता है क्योकी ये दोनो लोकसभा सदस्य के रूप में पहलें ही शपथ ले लेते है।

(C).लोकसभा अध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा उपाध्यक्ष को देता है तथा लोकसभा उपाध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा अध्यक्ष को देता है।

(D).प्रथम लोकसभा अध्यक्ष- गणेश वासुदेव मावलंकर (G.V. मावलंकर)

(E).प्रथम दलित लोकसभा अध्यक्ष- M.C. बालयोगी

(F).सबसे युवा लोकसभा अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी

(G).लोकसभा अध्यक्ष के पद से त्याग-पत्र देने वाला प्रथम अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी

(H).प्रथम महिला लोकसभा अध्यक्ष- मीरा कुमार (2009-2014)

(I).वर्तमान लोकसभा अध्यक्ष- सुमित्रा महाजन (2014 से) सुमित्रा महाजन

Note=सुमित्रा महाजन दुसरी महिला लोकसभा अध्यक्ष है।

(A) Lok Sabha speaker is also called Speaker, Chair Person and Chairman.

(B) Lok Sabha Speaker and Vice President does not take any pledge as both of them take oath as the Lok Sabha members.

(C). The Speaker gives the resignation letter to the Speaker of the Lok Sabha and the Lok Sabha Speaker gives his resignation to the Speaker.

(D). First Lok Sabha Speaker – Ganesh Vasudev Mavalankar (G.V. Mavalankar)

(E) First Dalit Lok Sabha Speaker – M.C. Balayogi (F). The youngest Lok Sabha Speaker – Nilam Sanjiva Reddy

(G). First President to resign from the post of Lok Sabha Speaker: Nilam Sanjiva Reddy

(H) First woman Lok Sabha Speaker – Meera Kumar (2009-2014)

(I). Lok Sabha Speaker – Sumitra Mahajan (since 2014) Sumitra Mahajan

Note = Sumitra Mahajan is the second woman Speaker of the Lok Sabha.

(3).Deputy Speaker of the Lok Sabha

(A).लोकसभा उपाध्यक्ष को उप-सभापति भी कहते है।

(B).प्रथम लोकसभा उपाध्यक्ष- अनन्तशयनम् अच्यगर

(C).वर्तमान लोकसभा उपाध्यक्ष- थुम्बई दुरई

(A). The Deputy Speaker of the Lok Sabha is also called.

(B). First Lok Sabha Deputy Chairman – Ananthesayanam Achyagar

(C). Present Lok Sabha Vice President – Thumbai Durai

(4).वेतन-

(A).लोकसभा अध्यक्ष का वेतन 1,25,000 रुपये है।

(B).लोकसभा सदस्यो का वेतन 50,000 रुपये है।

(A). The salary of the Speaker is Rs. 125,000.

(B). The salary of Lok Sabha members is 50,000 rupee

(5). Proteom Speaker of Lok Sabha-

(A).प्रोटेम स्पिकर को अंतिम तथा तात्कालिक अध्यक्ष भी कहते है।

(B).प्रोटेम स्पिकर के निर्देशन में लोकसभा की पहले दिन या पहली बैठक की कार्यवाही शुरू की जाती है।

(C).राष्ट्रपति वरिष्ठता के आधार पर ही लोकसभा सदस्यो में से ही प्रोटेम स्पिकर कि नियुक्ती करता है।

(D).प्रोटेम स्पिकर का मुख्य कार्य नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्यो को शपथ दिलाना होता है।

(E).वर्तमान प्रोटेम स्पिकर- कमलनाथ

(A). Proteom speaker is also called the last and immediate president.

(B). The proceedings of the first meeting or the first meeting of the Lok Sabha are started in the direction of Promoter Speaker.

(C). Promoted by the Speaker of the Lok Sabha on the basis of seniority, the President appoints the speaker.

(D). The main task of the Promoter Speaker is to make an oath to the newly elected Lok Sabha members.

(E). Current Protem Speaker – Kamal Nath

(6).कार्यकाल-

(A).लोकसभा अध्यक्ष तथा सदस्यो का सामान्य कार्यकाल 5 वर्ष होता है परन्तु 5 वर्ष से पूर्व भी प्रधानमंत्री की सिफारीस पर राष्ट्रपति लोकसभा को भंग कर सकता है।

(B).आपातकाल के दौरान लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया जा सकता है।

(C).सन् 1976 के 42 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया (6 वर्ष कर दिया था) गया था।

(D).सन् 1978 के 44 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल पुनः 5 वर्ष कर दिया गया था।

(A). The general term of the Speaker and Members is 5 years but before 5 years, the President can dissolve the Lok Sabha on the syphilis of the Prime Minister.

(B) During the Emergency, the term of the Lok Sabha can be extended to 1 year.

(C). The Legislative Assembly of Lok Sabha was extended for one year (made up of 6 years) by amendment of 42th Constitution of 1976.

(D). The term of the Lok Sabha was made again for 5 years by the amendment of 44th Constitut

(7). वर्तमान लोकसभा सिटे- 545

(A) राज्यो से निर्वाचित- 530

(B) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 13

(C) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

(7). Current Lok Sabha seats- 545

(A) elected from the states- 530

(B) Elected from the Union Territories- 13

(C) Considered by the President- 2 Anglo Indians

(8).अधिकतम लोकसभा सिटे- 552

(A) राज्यो से निर्वाचित- 530

(B) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 20

(C) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

(8) .Major Lok Sabha seats- 552

(A) elected from the states- 530

(B) Elected from the Union Territories- 20

(C) Considered by the President- 2 Anglo Indians

(9). अनुच्छेद 330-

(A).इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा में सिटो का आरक्षण आवंटित किया गया है।

(B).लोकसभा में कुल 131 सिटे आरक्षित है जिनमें से 84 सिटे SC तथा 47 सिटे ST जातियो के लिये आरक्षित है।

(C).लोकसभा सिटो का बटवारा सन् 1971 की जनगणना के आधार पर किया गया है जो की सन् 2026 तक अपरिवर्तित रहेगी

(9). Article 330- (A). As per this paragraph, a reservation of sito has been allocated in the Lok Sabha.

(B) In the Lok Sabha, a total of 131 seats are reserved, out of which 84 seats are reserved for SCs and 47 seats STs.

(C). The balance of Lok Sabha seats has been done on the basis of the 1971 census which will remain unchanged till 2026

(10). लोकसभा कि कार्यवाही/गणपुर्ती-

लोकसभा की कार्यवाही/बैठक को शुरू करने के लिए लोकसभा की वर्तमान सिटो का 1/10 वा भाग सदस्य लोकसभा में उपस्थित होने चाहिए अन्यथा लोकसभा स्थगित कर दि जाती है।

For the commencement of the proceedings / meeting of the Lok Sabha, one-tenth part of the current seat of Lok Sabha should be present in the Lok Sabha or the Lok Sabha is adjourned.

(11). निर्णायक मत-

जब लोकसभा में किसी कानुन या विषय पर बराबर मतो की स्थिति आति है तब लोकसभा अध्यक्ष अपना वोट डालता है जिसे निर्णायक मत कहते है।

(12). Money bill to the Lok Sabha-

(A).अनुच्छेद 110 के अनुसार धन विधेयक पर कानुन बनाने का अधिकार केवल लोकसभा का होता है।

(B).लोकसभा द्वारा पारित धन विधेयक राज्यसभा के पास भेजा जाता है।

(C).राज्यसभा को धन विधेयक 14 दिन के अन्दर लोकसभा में लोटाना होता है।

(D).राज्यसभा धन विधेयक को 14 दिन में नहीं लौटाती है तो धन विधेयक अपने आप ही पारित मान लिया जाता है।

(E).कोई धन विधेयक धन विधेयक है या नहीं इस पर अंतिम निर्णय लोकसभा अध्यक्ष करता है।

(A). According to Article 110, the right to make a law on the bill of money is only for the Lok Sabha.

(B) The money bill passed by the Lok Sabha is sent to the Rajya Sabha.

(C). The Rajya Sabha has to bring the bill in the Lok Sabha within 14 days.

(D) If the Rajya Sabha does not return the bill in 14 days, then the money bill is automatically passed passed.

(E). Whether a money bill is a money bill or not, the final decision on this is made by Lok Sabha Speaker.

(13).अविश्वास प्रस्ताव-

अविश्वास प्रस्ताव केवल लोकसभा में ही रखा जाता है तथा इसे पारित भी लोकसभा ही करती है

(14). विपक्ष नेता-

लोकसभा में विपक्ष के नेता को केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जाता है।

(15).राजस्थान से अब तक कुल 2 व्यक्ति लोकसभा अध्यक्ष बन चुके है। जैसे-

(1) बलिराम भगत- 1 बार (1976)

(2) बलराम जाखड़- 2 बार (1980 व 1985)

(16).महारानी गायत्री देवी-

यह राजस्थान से लोकसभा सदस्य बनने वाली प्रथम महिला है।

Note= यह कुल 3 बार लोकसभा सदस्य बनी थी

(17).वर्तमान लोकसभा में 2 आंगल भारतीय-

(1) रिचर्ड हे (केरल)

(2) जार्ज बेकर (पश्चिम बंगाल)

 

List Of Lok Sabha Speakers Of India

Indian Constitution Objectives Or Introduction

Click Here:राजस्थान राज्य का निर्माण और एकीकरण के बारे में जानकारी (23-03-2019)

राजस्थान में जनजातीय आंदोलन का मुख्य उद्देश्य के बारे में जानकारी (24-03-2019)