Important Information About the Eastern Plains of Rajasthan

Rajasthan Geography, Rajasthan Static GK 0 Comments
राजस्थान का पूर्वी मैदानी भाग

The region lies to east of the Mewar hills & south of the Banas plain. The area between Banwara and Pratapgarh is called ‘Chappan ka Maidan’. The weastern part of Mahi Basin is hilly but central & eastern parts are fertile plains with extensive cultivation. These plains are also known as Chhappan plainsThe region lies to east of the Mewar hills & south of the Banas plain. The area between Banwara and Pratapgarh is called ‘Chappan ka Maidan’. The weastern part of Mahi Basin is hilly but central & eastern parts are fertile plains with extensive cultivation. These plains are also known as Chhappan plains.

इस पोस्ट को हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

Eastern plains of Rajasthan

(1). Eastern plains of Rajasthan or Eastern plains of Rajasthan

(A). The eastern plains of Rajasthan include Jaipur, Alwar, Bharatpur, Dholpur, Tonk, Sawai Madhopur, Karauli, Kota and Bundi districts of Rajasthan.

(2). Area of ​​eastern plains of Rajasthan-

(A). Eastern plains are found on about 23 percent of the total area of ​​Rajasthan.

(3). Population in eastern plains of Rajasthan-

(A). About 39 percent of the total population of Rajasthan lives in the plains.

(4). Part of eastern plains of Rajasthan-

(A). The eastern plains of Rajasthan are divided into four parts. like-

(1). Chambal Basin

(2) .mahi basin

(3) .Banas Basin

(4). Banganga Basin

Note: – Detailed description of the four parts of the eastern plains of Rajasthan.

(1). Chambal Basin

(A). Chambal river flows from the districts of Kota, Bundi, Jhalawar, Sawai Madhopur, Karauli and Dhaulpur in Rajasthan and the flow area in these districts of Chambal river is called Chambal basin.

(2). Rugged area (Beed area) –

(A). The areas with deep valleys found in Chambal Basin are called rugged areas.

(B). Rugged areas found in Chambal Basin are also called dacoit houses.

(C). The most rugged area in Rajasthan is found only in Chambal Basin.

(D). In terms of districts, the most rugged areas in Rajasthan are found in Sawai Madhopur district.

(2) .dong area-

(A). The rugged terrain created by the Chambal Basin (Chambal River), the unobtrusive deep pits and valleys are called Dang area.

(B). The queen of Dang in Rajasthan is called Karauli district.

राजस्थान का पूर्वी मैदानी भाग

(1).राजस्थान का पूर्वी मैदानी भाग या राजस्थान का पूर्वी मैदानी प्रदेश

(A).राजस्थान के पूर्वी मैदानी भाग में राजस्थान के जयपुर, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, टोंक, सवाई माधोपुर, करौली, कोटा तथा बूंदी जिले शामिल है।

(2).राजस्थान के पूर्वी मैदानी भाग का क्षेत्रफल-

(A).राजस्थान के कुल क्षेत्रफल के लगभग 23 प्रतिशत क्षेत्रफल पर पूर्वी मैदानी भाग पाया जाता है।

(3).राजस्थान के पूर्वी मैदानी भाग में जनसंख्या-

(A).राजस्थान के कुल जनसंख्या के लगभग 39 प्रतिशत जनसंख्या मैदानी भाग में निवास करती है।

(4).राजस्थान के पूर्वी मैदानी क्षेत्र के भाग-

(A).राजस्थान के पूर्वी मैदानी भाग को कुल चार भागों में बाटा गया है। जैसे-

(1).चम्बल बेसिन

(2).माही बेसिन

(3).बनास बेसिन

(4).बाणगंगा बेसिन

Note:–राजस्थान के पूर्वी मैदानी भाग के चार भागों का विस्तार पूर्वक वर्णन-

(1).चम्बल बेसिन-

(A).राजस्थान के कोटा, बूंदी, झालावाड़, सवाई माधोपुर, करौली तथा धौलपुर जिलों में से चम्बल नदी बहती है और चम्बल नदी के इन जिलों में बहाव क्षेत्र को चम्बल बेसिन कहते है।

(2).बीहड़ क्षेत्र (बीड़ क्षेत्र)-

(A).चम्बल बेसिन में पाये जाने वाली गहरी-गहरी घाटियों वाले क्षेत्रों को बीहड़ क्षेत्र कहते है।

(B).चम्बल बेसिन में पाये जाने वाले बीहड़ क्षेत्र डाकुओं का घर भी कहलाते है।

(C).राजस्थान में सर्वाधिक बीहड़ क्षेत्र चम्बल बेसिन में ही पाये जाते है।

(D).जिलों की दृष्टि से राजस्थान में सर्वाधिक बीहड़ क्षेत्र सवाई माधोपुर जिले में पाये जाते है।

(2).डांग क्षेत्र-

(A).चम्बल बेसिन (चम्बल नदी) के द्वारा बनाये जाने वाले उबड़ खाबड़ वाला क्षेत्र, अनुपजाऊ गहरे-गहरे गड्ढे व घाटियों को डांग क्षेत्र कहते है।

(B).राजस्थान में डांग की रानी करौली जिले को कहते है।